कल लगेगा साल का आखिरी सूर्य ग्रहण, लेकिन उससे पहले लग जायेगा सूतक, जानिए समय


2019 का आखिरी सूर्य ग्रहण लगने जा रहा है। खास बात ये है कि इसे भारत में भी देखा जा सकेगा। सूर्य ग्रहण के दौरान कुछ विशेष परिस्थितियां भी बन रही हैं। ज्योतिषियों की माने तो 26 दिसंबर को लगने वाले ग्रहण के समय जो स्थिति बन रही है कुछ वैसी ही स्थिति वर्ष 1962 में बनी थी जब 7 ग्रह एक साथ थे।

 

इस बार लगने वाले सूर्य ग्रहण में 6 ग्रह एक साथ हैं केवल एक की ही कमी है। वो 6 ग्रह हैं सूर्य, चंद्रमा, शनि, बुध, बृहस्पति, केतु। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार इन 6 ग्रहों के एक साथ होने से सूर्य ग्रहण का प्रभाव लंबे समय तक रहेगा। यह ग्रहण सुबह 8 बजकर 17 मिनट से शुरू होगा और इसका समापन सुबह 10 बजकर 57 मिनट पर होगा। अलग अलग शहरों में सूर्य ग्रहण के शुरू और समाप्ति होने के समय में थोड़ा बहुत अंतर आ सकता है। सूतक काल का प्रारंभ 25 दिसंबर से ही हो जायेगा।

 

 

ये ग्रहण धनु राशि में लगने जा रहा है जिस दौरान नक्षत्र मूल होगा। इस कारण धनु राशि और मूल नक्षत्र में जन्म लेने वाले लोगों पर इस ग्रहण का विशेष प्रभाव पड़ेगा। यहां आप जानेंगे भारत के अलावा और किन जगहों पर ये ग्रहण लगने जा रहा है, राशियों पर इसका क्या प्रभाव पड़ेगा, विभिन्न शहरों में इस ग्रहण के लगने का क्या समय रहने वाला है और सभी संबंधित  जानकारी जानने के लिए बने रहिए हमारे इस ब्लॉग पर…