कबीर हत्याकांड, ज्ञापन सौंप सीबीआई से जाँच की मांग: सुदामा


बस्ती। उपजिलाधिकारी हर्रैया के माध्यम से महामहिम राष्ट्रपति भारत सरकार,महामहिम राज्यपाल उ.प्र.सरकार,रजिस्टार उच्च न्यायालय इलाहाबाद व जिलाधिकारी बस्ती को सम्बोधित ज्ञापन सौंपकर
जनपद में घटित कबीर हत्याकांड व मूर्ति विसर्जन के दिन हुए अमोढा विवाद की सी.बी.आई.जांच कराते हुए दोषियों को कठोरतम सजा दिलाने की मांग करते हुए समाजसेवी चन्द्रमणि पाण्डेय सुदामाजी ने कहा कि जिस तरह जनपद में लगातार अप्रिय घटनाएं घटी व घटना उपरांत आक्रोश उत्पन्न हुआ उसके पीछे कहीं कोई बडी साजिश तो नहीं आखिर पढाई कर रहे छात्रों के पास हथियार व उसके लिए पैसे आये कहां से गोली चलाने के लिए किसने उकसाया, क्या कबीर ने इतना आतंक मचा रखा था कि हत्या आवश्यक थी क्या कबीर गलत रास्ते पर चल रहा था यदि हां तो उसको सह देने वाले कौन थे क्या ये हत्या सोची समझी रणनीति के तहत हुआ या कोई पूर्व का विवाद था यदि था तो जिम्मेदार अधिकारियों ने समय रहते मामले को संग्यान में क्यों नहीं लिया कबीर की मौत के बाद जिस तरह अराजकता में 50लाख से अधिक सरकारी सम्पत्ति का नुकसान हुआ ऐसे में सवाल यह भी उठता है कि गम को आक्रोश में बदला किसने समर्थकों को उकसाया किसने क्या मौके पर कोई जिम्मेदार मौजूद नहीं था यदि मौजूद था तो क्या उनके द्वारा आक्रोश शान्त करने का प्रयास किया गया यदि साजिशकर्ताओं का पर्दाफाश नहीं हुआ तो जाने कितने कबीर इनके साजिश के शिकार होते रहेगें इतना ही नहीं कबीर हत्या के एक दिन पूर्व जिस तरह मूर्ति विसर्जन के दौरान जिले के अमोढा बाजार में मार्ग में मांस गिराया गया व आक्रोश में आगजनी हुई और इन घटनाओं के क्रम में अनावश्यक रुप से जिलाधिकारी को भी हटाया गया इसकी भी जांच जरूरी है कयोंकि लोगों में यह भी चर्चा है कि कही जिलाधिकारी के जांच से घबराये लोगों ने जिलाधिकारी का नाम जोड उन्हें हटाने का प्रयास तो नहीं किया यदि हां तो भ्रष्टाचार पर अंकुश कैसे लगेगा यदि ये सामान्य स्थानांतरण था तो आधी रात स्थानांतरण क्यो
  ऐसे में घटना की उच्च स्तरीय जांच सी.बी.आई.से जांच कराते हुए  घटना से जुडे सभी दोषियों को कडी से कडी सजा दी जाय कोई दोषी बचे नहीं ताकि फिर कोई कबीर इनकी शाजिस का शिकार न हो यही पीडित परिवार व आहत समाज के प्रति सच्चा न्याय होगा इस मौके पर चन्द्र प्रकाश त्रिपाठी, महेंद्र सिंह,विवेक पाण्डेय, विजय पाण्डेय,सूरज शुक्ल,विकास सहित दर्जनों समर्थक मौजूद रहे।

रिपोर्ट अनिल कुमार शुक्ला

बस्ती